love shayari
love shayari



होठों पर नाम हे तेरा,

दिल में याद हे तेरी,

ज़माने से हमें क्या लेना,

जब तुझमे बसी है जान मेरी।


इन आंखों में जो तस्वीर है वो तेरी है,

दिल की हर धड़कन बस तेरी है,

नहीं चाहिए सारे जहां की खुशियां मुझे,

खुदा करे तुझे मिल जाए,

वह सारी खुशियां जो मेरी है।


किस्मत यह मेरा इम्तेहान ले रही है

तड़प कर यह मुझे दर्द दे रही है

दिल से कभी भी मैंने उसे दूर नहीं किया

फिर क्यों बेवफाई का वह इलज़ाम दे रही है।


मैँ लिखता हूं सिर्फ दिल बहलाने के लिये वर्ना जिस पर

प्यार का असर नही हुआ उस परअल्फाजो का क्या असर होगा


वो कहता है की बता तेरा दर्द कैसे समझू

मैंने कहा की इश्क़ कर और कर के हार जा


मेरे आँखों के ख्वाब, दिल के अरमान हो तुम,

तुम से ही तो मैं हूँ, मेरी पहचान हो तुम,

मैं ज़मीन हूँ अगर तो मेरे आसमान हो तुम,

सच मानो मेरे लिए तो सारा जहान हो तुम।


माना की हम लड़ते बहुत है,

मगर प्यार भी बहुत करते है,

हमारे गुस्से से नाराज़ न हो जाना,

क्योंकि गुस्सा ऊपर से और

प्यार दिल से करते है।


कितना प्यार करते हैं तुमसे

यह कहना नहीं आता,

बस इतना जानते हैं कि बिना

तुम्हारे रहना नहीं आता।


हमारी गलतियों से कही टूट न जाना,

हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,

तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं,

इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना।


पहले तुझको तमन्ना मेरी थी,

और मुझ को तमन्ना तेरी थी,

अब तुझको तमन्ना किसी और की है,

जा अब तेरी तमन्ना कौन करे।

0 Comments: